ब्लोगोत्सव-२०१० में शामिल सभी प्रतिभागियों को अवगत कराना है कि पूर्व में किये गए वायदे के मुताबिक़ ब्लोगोत्सव से जुड़े समस्त रचनाकारों को लोक संघर्ष पत्रिका की आजीवन सदस्यता मुफ्त दी गयी है .

  इस पत्रिका का नया जून-२०१० अंक प्रकाशित हो चुका है, जिसे समस्त सदस्यों को डाक से उनके पते पर प्रेषित किया जाना है .....पत्रिका के प्रबंध संपादक श्री रंधीर सिंह सुमन के द्वारा  ब्लोगोत्सव में शामिल प्रतिभागियों का पत्राचार का पता और टेलीफोन न. की मांग की गयी है .

 अत: आप सभी से निवेदन है कि जो रचनाकार ब्लोगोत्सव में शामिल हो चुके हों अथवा शामिल होने की प्रक्रिया में हों वे अपना नाम,पत्राचार का पता, टेलीफोन न. अविलंब निम्न लिखित ई-मेल आई डी पर प्रेषित करें-

पत्रिका का यह अंक आपके लिए प्राप्त करना ज्यादा  महत्वपूर्ण है,  क्योंकि इस अंक में मेरे द्वारा विगत वर्ष परिकल्पना पर २५ खण्डों में वृहद् रूप से प्रकाशित ब्लॉग विश्लेषण-२००९ का संक्षिप्त रूप ०९ पृष्ठों में प्रकाशित हुआ है शीर्षक है- "हिंदी ब्लोगिंग की दृष्टि से सार्थक रहा वर्ष-२००९"

जो चिट्ठाकार ब्लोगोत्सव से नहीं जुड़े हैं वे इस आलेख में अपने चिट्ठे को ढूंढ सकते हैं ....जिसे इस सन्देश के साथ संलग्न किया जा रहा है .
भवदीय-
रवीन्द्र प्रभात
================================================================
आलेख : सामाजिक मीडिया का उदय : हिंदी ब्लोगिंग की दृष्टि से सार्थक रहा वर्ष-२००९
पृष्ठ सं. १० से १८ तक
यहाँ पढ़ें :


7 comments:

Mukesh Kumar Sinha ने कहा… 25 मई 2010 को 2:07 pm

dhanyawad!! hame iss magazine ka intzaar rahega........:)

Akhtar Khan Akela ने कहा… 25 मई 2010 को 2:12 pm

jnaab aaadaab bhaai jaaan yeh to jo blogr utsv men naa jaa ske unke saath chiting he bhaai hmne kyaaa bigaadaa he hmaare saath yeh anyaaay kyun ke hm aapki ptrikaa se mehroom rhen . akhtar khan akela kota rajasthan my blog akhtarkhanakela.blogspot.com he

रवीन्द्र प्रभात ने कहा… 25 मई 2010 को 2:31 pm

प्रिय भाई,
यह उत्सव विगत डेढ़ महीने से जारी है तथा इस उत्सव में शामिल होने हेतु सभी चिट्ठाकारों को आमंत्रित किया गया, पूर्व में की जा चुकी घोषणा के आधार पर ही अग्रिम कार्यवाही सुनिश्चित होना संभव है , अत: क्षमा करें !

रवीन्द्र प्रभात ने कहा… 25 मई 2010 को 2:35 pm

हाँ, जिन रचनाकारों अथवा चिट्ठाकारों के द्वारा अपनी रचनाएँ भेजी जा चुकी है, किन्तु अभी तक प्रकाशित नहीं हुआ है या जिन चिट्ठाकारों के पोस्ट को श्रेष्ठ पोस्ट श्रृंखला में स्थान दिया गया है वे भी इस पत्रिका की आजीवन सदस्यता के हकदार होंगे ....!

Udan Tashtari ने कहा… 25 मई 2010 को 5:17 pm

भेज दिया सर जी ईमेल से पता. :)

अल्पना वर्मा ने कहा… 25 मई 2010 को 8:55 pm

बहुत बहुत धन्यवाद इस सूचना के लिए.
सभी प्रतिभागिओं को पत्रिका की आजीवन सदस्यता देना बहुत ही सराहनीय कार्य है.
इस पुरस्कार हेतु सभी को बधाई और शुभकामनाएँ .

ललित शर्मा ने कहा… 3 जून 2010 को 8:09 am

रविन्द्र जी आप बहुत ही अच्छा कार्य कर रहे हैं
हम आपको एवं पूरी टीम को सैल्युट करते हैं

आभार

 
Top