ब्लोगोत्सव-२०१० पर प्रकाशित प्रश्नों के आईने में....(एक संस्मरण )को वर्ष का श्रेष्ठ संस्मरण के रूप में चयन करते हुए श्रीमती सरस्वती प्रसाद जी को वर्ष की श्रेष्ठ लेखिका (संस्मरण ) का खिताब ब्लोगोत्सव की टीम के द्वारा देते हुए सम्मानित करने का निर्णय लिया गया है . "जानिये अपने सितारों को " के अंतर्गत आज प्रस्तुत है श्री मती सरस्वती प्रसाद जी से पूछे गए कुछ व्यक्तिगत प्रश्नों के उत्तर-



(१) पूरा नाम :
सरस्वती प्रसाद
(२) पिता/ स्व. सीताराम प्रसाद
माता/ स्व. सूरजमुखी देवी
पति का नाम/
स्व. रामचंद्र प्रसाद
जन्म स्थान :
आरा
(३) वर्तमान पता :
फ्लैट - ४७ , NECO NX ,निअर दत्त मंदिर चौक , विमान नगर, पुणे -- १४
(३) ई मेल का पता :
"सरस्वती प्रसाद" ammaishere@gmail.com>,
(३) टेलीफोन/मोबाईल न.
09579959153
(४) प्रमुख व्यक्तिगत ब्लॉग :
http://kalpvriksha-amma.blogspot.com/


(५) ब्लॉग पर कौन सा विषय आपको ज्यादा आकर्षित करता है?
सामयिक लेख और कविता.
(६) आपने ब्लॉग कब लिखना शुरू किया ?
२० जून २००७
(७) यह खिताब पाकर आपको कैसा महसूस हो रहा है ?
मैं खुद को उर्जावान महसूस कर रही हूँ.
(८) ब्लोगोत्सव जैसे सार्वजनिक उत्सव में शामिल होकर आपको कैसा लगा ?जैसे किसी नदी के तट पर बैठकर मैं लहरों का गान सुन रही हूँ .
(९)आपकी नज़रों में ब्लोगोत्सव की क्या विशेषताएं रही ?
इस उत्सव ने हर प्रतिभा को एक ख़ास स्वरुप देकर प्रस्तुत किया है ...
(१०) ब्लोगोत्सव में वह कौन सी कमी थी जो आपको हमेशा खटकती रही ?
सबकुछ इतना सहज और सुन्दर था कि मुझे कोई कमी नहीं लगी...
(११) ब्लोगोत्सव में शामिल किन रचनाकारों ने आपको ज्यादा आकर्षित किया ? सबकी अपनी अपनी पहचान थी ..
(१२)किन रचनाकारों की रचनाएँ आपको पसंद नहीं आई ?
हर रचना , हर अंदाज उत्सव के रंग में सराबोर लगा ...
(१३) क्या इस प्रकार का आयोजन प्रतिवर्ष आयोजित किया जाना चाहिए ?
बिल्कुल...
(१४) आप कुछ अपने व्यक्तिगत जीवन के बारे में बताएं :
व्यक्तिगत जीवन में मैं एक अच्छी गृहणी, और अपने बच्चों की प्यारी अम्मा ...
(१५)अपनी कोई पसंदीदा रचना की कुछ पंक्तियाँ सुनाएँ :
" दो निगाहों के लिए
दो नयन भटके हर कहीं
पर न पाया ठौर
अपना भी बना कोई नहीं
अब ये क्या अपनापनी
जब जा रही बरात है....क्या अनोखी बात है !"

आपका बहुत-बहुत धन्यवाद !


प्रस्तुति : रवीन्द्र प्रभात

15 comments:

अविनाश वाचस्पति ने कहा… 14 जुलाई 2010 को 11:03 am

जय हो। प्रणाम। पुणे जब भी दोबारा आना होगा तो आपसे अवश्‍य मिलना चाहूंगा।

mala ने कहा… 14 जुलाई 2010 को 12:24 pm

सरस्वती जी को बहुत बहुत बधाई

ज़ाकिर अली ‘रजनीश’ ने कहा… 14 जुलाई 2010 को 12:26 pm

Are waah, Ye bhi ek achchha tarika hai samman dene ka.

ज़ाकिर अली ‘रजनीश’ ने कहा… 14 जुलाई 2010 को 12:26 pm

Are waah, Ye bhi ek achchha tarika hai samman dene ka.

पूर्णिमा ने कहा… 14 जुलाई 2010 को 12:27 pm

बहुत बहुत बधाई

गीतकार /geetkaar ने कहा… 14 जुलाई 2010 को 12:29 pm

सरस्वती जी को बहुत बहुत बधाई

ρяєєтι ने कहा… 14 जुलाई 2010 को 1:48 pm

Proud Of U Ammaa...Pranaam, Love u..!

'अदा' ने कहा… 14 जुलाई 2010 को 4:25 pm

सरस्वती जी को बहुत बहुत बधाई ..!

kshama ने कहा… 14 जुलाई 2010 को 4:34 pm

Bahut, bahut mubarak ho!

संगीता पुरी ने कहा… 14 जुलाई 2010 को 4:55 pm

सरस्वती जी को बहुत बहुत बधाई !!

Udan Tashtari ने कहा… 14 जुलाई 2010 को 5:04 pm

बहुत बहुत बधाई !

काजल कुमार Kajal Kumar ने कहा… 15 जुलाई 2010 को 1:10 pm

सरस्वती जी को ढेरों बधाइयां.

खुशदीप सहगल ने कहा… 17 जुलाई 2010 को 9:20 am

सरस्वती जी के तो नाम में ही देवी सरस्वती है...सम्मान के लिए हार्दिक बधाई...

रवींद्र जी और टीम ब्लॉगोत्सव २०१० का आभार...

जय हिंद...

Vinay Prajapati 'Nazar' ने कहा… 20 जुलाई 2010 को 11:07 pm

मेरी भी बधाई स्वीकार करें।

 
Top