परिकल्पना पर ब्लोगोत्सव-२०१० के दौरान प्रस्तुत कार्टून्स के अवलोकन के पश्चात ब्लोगोत्सव की टीम के द्वारा श्री काजल कुमार को वर्ष के श्रेष्ठ कार्टूनिस्ट का खिताब देते हुए समानित करने का निर्णय लिया गया है . उल्लेखानीय है की श्री काजल कुमार देश के प्रतिष्ठित कार्टूनिस्ट तथा हिंदी के सक्रीय ब्लोगर है . प्रस्तुत है "जानिये अपने सितारों को " के अंतर्गत उनके जीवन और सृजन से जुड़े कुछ प्रश्नों के उत्तर उन्हीं की जुवानी -

(१)आपका पूरा नाम :


काजल कुमार
(२) आपका जन्म स्थान :


हिमाचल प्रदेश
(३)आपका वर्तमान पता :


दिल्ली
(३)आपका ई मेल का पता :


kajalkumar@comic.com



(३) आपका टेलीफोन/मोबाईल न.


इसे मैं व्यक्तिगत ही रखना पसंद करता हूं.
(४) आपके प्रमुख व्यक्तिगत ब्लॉग :

http://kajal.tk/


(http://kajalkumarcartoons.blogspot.com/ )
http://sahibaat.blogspot.com/


(५) अपने ब्लॉग के अतिरिक्त अन्य ब्लॉग पर गतिविधियों का विवरण :

कभी-कभी इन ब्लाग्ज़ पर भी कुछ-कुछ लिखता हूं
http://tetalaa.blogspot.com/


http://nukkadh.blogspot.com/
(६) अपने ब्लॉग के अतिरिक्त आपको कौन कौन सा ब्लॉग पसंद है :


बहुत से...उनमें से कई तो मेरे ब्लाग पर "अहा मीठा मीठा" के अंतर्गत संग्रहित भी हैं.


(७) ब्लॉग पर कौन सा विषय आपको ज्यादा आकर्षित करता है?


कुछ भी... ईमानदारी से लिखा/गढ़ा गया.
(८) आपने ब्लॉग कब लिखना शुरू किया ?


कई साल पहले geocities.com पर कार्टून होस्ट किये फिर इसके बंद होने से पहले ही http://kajalkumarcartoons.googlepages.com पर आ गया जिसका शार्टनेम kajalkumar.tk है. अलबत्ता ब्लागशैली में लिखना तो 2008 से ही शुरू किया.
(९) यह खिताब पाकर आपको कैसा महसूस हो रहा है ?


...और विनम्र.
(१०) क्या ब्लोगिंग से आपके अन्य आवश्यक कार्यों में अवरोध उत्पन्न नहीं होता ?


मेरे विचार से यह पूरक है...
(११) यदि होता है तो उसे कैसे प्रबंध करते है ?


...और फिर मैं तो ब्लागिंग तभी करता हूं जब समय मिलता है.
(11) ब्लोगोत्सव जैसे सार्वजनिक उत्सव में शामिल होकर आपको कैसा लगा ?


नि:संदेह यह मेला बहुत भला सा लगा...बहुत भला.
१२) आपकी नज़रों में ब्लोगोत्सव की क्या विशेषताएं रही ?


बहुत कुछ एक ही जगह पढ़ने को मिलता रहा..किसी एक सुघड़ पत्रिका के वार्षिकांक की ही तरह.
(१३) ब्लोगोत्सव में वह कौन सी कमी थी जो आपको हमेशा खटकती रही ?


कुछ और ब्लाग्ज़ को पार्टनर बनाया जा सकता था ताकि वहां पर भी लिंक उपलब्ध रहते कि आज क्या नया होस्ट हो रहा है. पिछली जानकारी भी कुछ ग़ायब सी ही लगती थी.
(१४) ब्लोगोत्सव में शामिल किन रचनाकारों ने आपको ज्यादा आकर्षित किया ?


ओह इतना कठिन प्रश्न ?
(१५) किन रचनाकारों की रचनाएँ आपको पसंद नहीं आई ?


...आई सरेंडर...
(१६) क्या इस प्रकार का आयोजन प्रतिवर्ष आयोजित किया जाना चाहिए ?


संभव हो तो अवश्य, अन्यथा दो वर्ष में एक बार तो किया ही जा सकता है.
(१७) आपको क्या ऐसा महसूस होता है कि हिंदी ब्लोगिंग में खेमेवाजी बढ़ रही है ?


खेमेबाज़ी पर हम हिन्दी भाषियों का ही पेटेंट है, ऐसे में क्या घटना क्या बढ़ना.
(१८) यदि हाँ तो क्या यह हिंदी चिट्ठाकारी के लिए अमंगलकारी नहीं है ?


यह खेमेबाज़ी यहां भी उतनी ही मंगल/अमंगलकारी है जितनी हिन्दी की दूसरी विधाओं में.
१९) आप कुछ अपने व्यक्तिगत जीवन के बारे में बताएं : मूर्खों-सरीखा सीधा-सादा पारिवारिक व्यक्ति हूं, कुछ भी पढ़-देख लेता हूं, मेरे लिए मस्त रहना सर्वाधिक महत्वपूर्ण है...बस्स्स्स.
(२०) चिट्ठाकारी से संवंधित क्या कोई ऐसा संस्मरण है जिसे आप इस अवसर पर सार्वजनिक करना चाहते हैं ?


एक अतिउत्साही मित्र थे जो अपनी रचनाएं इ-मेल से लगातार भेजते रहते थे पर मैं कभी प्रत्योत्तर नहीं दे सका ( क्योंकि मैं उनके रचनाकर्म के काबिल था ही नहीं ). जब हद ही हो गई तो एक दिन मैंने उनको आटोरिस्पांस जारी किया कि -"भाई साहब, किरायेदार यह इन्बाक्स vacate करके सदा के लिए कहीं और चला गया है...उसका नया पता किसी को नहीं मालूम"।

बहुत बहुत धन्यवाद काजल जी आपका .....

.......इस अवसर पर ऋग्वेद की दो पंक्तियां आपको समर्पित है कि - ‘‘आयने ते परायणे दुर्वा रोहन्तु पुष्पिणी:। हृदाश्च पुण्डरीकाणि समुद्रस्य गृहा इमें ।।’’अर्थात आपके मार्ग प्रशस्त हों, उस पर पुष्प हों, नये कोमल दूब हों, आपके उद्यम, आपके प्रयास सफल हों, सुखदायी हों और आपके जीवन सरोवर में मन को प्रफुल्लित करने वाले कमल खिले।

प्रस्तुति : रवीन्द्र प्रभात

16 comments:

अल्पना वर्मा ने कहा… 12 जुलाई 2010 को 3:58 pm

काजल कुमार जी को बहुत बहुत बधाईयाँ और शुभकामनाएँ

संगीता पुरी ने कहा… 12 जुलाई 2010 को 4:06 pm

काजल कुमार जी को बधाई और शुभकामनाएँ !!

kshama ने कहा… 12 जुलाई 2010 को 4:31 pm

Kajal kumar ji ka tahe dilse badhayi aur anek shubhkamnayen! Unke cartoon waqayi behad umda hote hain!

अविनाश वाचस्पति ने कहा… 12 जुलाई 2010 को 4:47 pm

कार्टून चित्रों की तरह साक्षात्‍कार भी कार्टून शैली में बहुत भला मतलब लाभ दायक लगा। काजल कुमार जी को बधाई।

Udan Tashtari ने कहा… 12 जुलाई 2010 को 5:20 pm

काजल कुमार जी को बहुत बहुत बधाई एवं शुभकामनाएँ. वेल डिजर्वड!!

मनोज कुमार ने कहा… 12 जुलाई 2010 को 6:22 pm

काजल कुमार जी को बहुत बहुत बधाई एवं शुभकामनाएँ.

मनोज कुमार ने कहा… 12 जुलाई 2010 को 6:22 pm

काजल कुमार जी को बहुत बहुत बधाई एवं शुभकामनाएँ.

M VERMA ने कहा… 12 जुलाई 2010 को 7:59 pm

बधाई काजल जी को

mala ने कहा… 13 जुलाई 2010 को 10:12 am

बहुत बहुत बधाई...

पूर्णिमा ने कहा… 13 जुलाई 2010 को 10:15 am

काजल कुमार जी को बहुत बहुत बधाई एवं शुभकामनाएँ.

Rajendra Swarnkar ने कहा… 13 जुलाई 2010 को 3:44 pm

श्री काजल कुमार जी ,
ब्लॉगोत्सव द्वारा वर्ष के श्रेष्ठ कार्टूनिस्ट के ख़िताब से सम्मानित होने पर हार्दिक बधाई !
शुभकामनाओं सहित …
- राजेन्द्र स्वर्णकार
शस्वरं

Smart Indian - स्मार्ट इंडियन ने कहा… 14 जुलाई 2010 को 10:05 am

काजल कुमार जी को हार्दिक बधाई और शुभकामनाएँ!

सूर्यकान्त गुप्ता ने कहा… 14 जुलाई 2010 को 3:04 pm

काजल कुमार जी को उनकी अद्भुत कृति के लिये मिले सम्मान के लिये हार्दिक बधाई और शुभकामनाएँ! साक्षात्कार मे भी सटीक जवाब के लिये पुन: बधाई।

काजल कुमार Kajal Kumar ने कहा… 15 जुलाई 2010 को 12:56 pm

नेट से दूर रहने के कारण.. एक दिन की देरी से सम्मान-समाचार प्रकाशन की सूचना मिली...निर्णायक मंडल को चयन के लिए व आप सभी मित्रों को बधाइयों के लिए मेरा विनम्र आभार.

खुशदीप सहगल ने कहा… 18 जुलाई 2010 को 1:48 am

ये काजल जी का सम्मान नहीं हम सबकी मुस्कान का सम्मान है, जो काजलजी कार्टूनों के ज़रिए हमारे चेहरे पर उकेरते हैं...

रवींद्र जी और टीम ब्लॉगोत्सव २०१० का आभार...

जय हिंद...

 
Top