ब्लोगोत्सव-२०१० की अपार सफलता के बाद समूचे परिदृश्य के दस्तावेजीकरण हेतु इसके प्रकाशन का कार्य प्रगति पर है । ऐसे में इस पर लगातार हो रहे रचनाओं के प्रकाशन से ब्लोगोत्सव से संवंधित प्रकाशन कार्य में अवरोध की स्थिति उत्पन्न हो रही है ।
इसलिए हम कल से ब्लोगोत्सव-२०१० पर उत्सव के दौरान प्रकाशित कुछ महत्वपूर्ण सामग्रियों का पुनर्प्रकाशन करने जा रहे हैं ताकि वे पाठक भी उन महत्वपूर्ण रचनाओं से जुड़ सकें जो कतिपय कारणवश वंचित रह गए थे ...!
() रवीन्द्र प्रभात

3 comments:

काजल कुमार Kajal Kumar ने कहा… 13 सितंबर 2010 को 8:00 pm

अच्छी बात है ये भी.

Akshita (Pakhi) ने कहा… 14 सितंबर 2010 को 11:36 am

यह तो खूब रही अंकल जी....

 
Top