बदलते दौर में साहित्य बदलते दौर में साहित्य

श्री कृष्ण कुमार यादव डाक विभाग में निदेशक के पद पर कार्यरत है। आजकल अंडमान -निकोबार दीप समूह, पोर्टब्लेयर में रह रहे हैं । यह हिंदी के प्र...

और जानिएं »
5:25 pm

परिचर्चा :लौटा दे वो बचपन परिचर्चा :लौटा दे वो बचपन

बचपन.........मछली मछली कित्ता पानी.......कौन खायेगा जलेबी?-हम, मैंने पहले कहा,मैंने....... एक था राजा , राजा की 4 बेटियाँ ..........'...

और जानिएं »
4:28 pm

बड़बडिया बड़बडिया

नन्हें दोस्तो,  आज मैं तुम्हें एक ऐसे व्यक्ति से मिलवाता हूँ जो हिन्दी के प्रमुख विज्ञान कथाकार माने जाते हैं। उनका नाम डा0 अरविंद मिश्र ।...

और जानिएं »
11:00 am

भविष्य का यथार्थ भविष्य का यथार्थ

जीशान जैदी जन्म : 18 अक्तूबर 1973 / शिक्षा : एम0एस-सी (गणितीय सांख्यकी)/ सृजन: विगत बारह वर्षों से अनवरत लेखन। विज्ञान कथाएं (साइंस फिक्शन) ...

और जानिएं »
1:59 pm

सामाजिक सरोकार : पानी में जहर सामाजिक सरोकार : पानी में जहर

!! पानी में जहर !! () शहरोज़ (गया, बिहार), संजीव समीर (कोडरमा, झारखंड) गया से महज़ चौंसठ किलोमीटर के फ़ासले पर है आमस प्रखंड का गांव भूपनग...

और जानिएं »
1:31 pm

समाज संचालन में सामाजिक सरोकारों की भूमिका पर डॉ0 कुमारेन्द्र सिंह सेंगर की दृष्टि समाज संचालन में सामाजिक सरोकारों की भूमिका पर डॉ0 कुमारेन्द्र सिंह सेंगर की दृष्टि

संक्षिप्त परिचय नाम - डा0 कुमारेन्द्र सिंह सेंगर / जन्मतिथि - 19-03-1974 (वास्तविक 19.09.1973) / जन्म स्थान - उरई (जालौन) उ0प्र0 / शिक्षा -...

और जानिएं »
2:23 pm

पहला सुख निरोगी काया . पहला सुख निरोगी काया .

अलका सर्वत मिश्रा हिंदी चिट्ठाकारी में एक चिर-परिचित नाम है, स्वास्थ्य- चर्चा और जडी बूटियों से संवंधित ज्ञान बांटने वालों में अलका जी सर...

और जानिएं »
12:06 pm

हिंदी ब्लोगिंग के संवंध में क्या कहते है बालेन्दु शर्मा दाधीच हिंदी ब्लोगिंग के संवंध में क्या कहते है बालेन्दु शर्मा दाधीच

प्रमुख हिंदी पोर्टल प्रभासाक्षी.कॉम के समूह संपादक बालेन्दु शर्मा दाधीच सन 1998 से सूचना प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में हिंदी को आगे बढ़ाने के ...

और जानिएं »
11:00 am

!! साहित्य में पुरस्कारों की राजनीति !! !! साहित्य में पुरस्कारों की राजनीति !!

श्री राम शिव मूर्ति यादव उत्तर प्रदेश के जौनपुर जनपद के मूल निवासी हैं, 1962 में तिलकधारी महाविद्यालय, जौनपुर से स्नातक एवं तत्पश्चात काशी...

और जानिएं »
11:00 am

के० के० यादव का आलेख शाश्वत है भारतीय संस्कृति और इसकी विरासत के० के० यादव का आलेख शाश्वत है भारतीय संस्कृति और इसकी विरासत

पिछले दिनों हम शब्द-सृजन की ओर... और डाकिया डाक लाया ब्लॉग के संचालक साहित्यकार / समीक्षक श्री के० के० यादव के आलेख "बदलते दौर में...

और जानिएं »
11:00 am
 
Top